Adsense


 Love is seasoned feelings of heart and needs to express. Love poetry is an effective way to express the sentiments of love. We have a vastest collection of Love Shayari in Hindi (लव शायरी) for Whatsapp & Facebook Status. Read these Shayari about Love in hindi and english script both.

If you are searching for love poetry like true love shayaris, new love status for whatsapp DP or love shayari wallpaper, then you are at right place. Express your love feelings to your lover with a right shayari on love.


Ek Umar Beet Chali Hai Tujhe Chahte Hue,

Tu Aaj Bhi BeKhabar Hai Kal Ki Tarah.

एक उमर बीत चली है तुझे चाहते हुए,
तू आज भी बेखबर है कल की तरह।

Anaa Kehti Hai ilteza Kya Karni,

Woh Mohabbat Hi Kya Jo Minnaton Se Mile.
अना कहती है इल्तेजा क्या करनी,
वो मोहब्बत ही क्या जो मिन्नतों से मिले।

Muqammal Na Sahi Adhoora Hi Rahne Do,
Ye Ishq Hai Koi Maqsad Toh Nahi Hai.
मुकम्मल ना सही अधूरा ही रहने दो,
ये इश्क़ है कोई मक़सद तो नहीं है।

Shayari about Love, Chahat Hui Kisi Se

Shayari about Cute Feelings of Love

Chahat Hui Kisi Se Toh Fir Be-Inteha Hui,
Chaha Toh Chahaton Ki Hadd Se Gujar Gaye,
HumNe Khuda Se Kuchh Bhi Na Manga Magar Usey,
Manga Toh Siskiyon Ki Bhi Hadd Se Gujar Gaye.

चाहत हुई किसी से तो फिर बेइन्तेहाँ हुई,
चाहा तो चाहतों की हद से गुजर गए,
हमने खुदा से कुछ भी न माँगा मगर उसे,
माँगा तो सिसकियों की भी हद से गुजर गये।

Kuchh Khaas JaanNa Hai To Pyar Kar Ke Dekho,
Apni Aankhon Mein Kisi Ko Utaar Kar Ke Dekho,
Chot Unko Lagegi Aansoo Tumhein Aa Jayenge,
Ye Ehsaas JaanNa Hai To Dil Haar Kar Ke Dekho.

कुछ ख़ास जानना है तो प्यार कर के देखो,
अपनी आँखों में किसी को उतार कर के देखो,
चोट उनको लगेगी आँसू तुम्हें आ जायेंगे,
ये एहसास जानना है तो दिल हार कर के देखो।

Love Shayari, Uljhi Rahi Mohabbat


Na Jahir Hui Tumse Aur Na Hi Bayaan Hui Humse,
Bas Suljhi Hui Aankhon Mein Uljhi Rahi Mohabbat.
न जाहिर हुई तुमसे और न ही बयान हुई हमसे,
बस सुलझी हुई आँखो में उलझी रही मोहब्बत


Logon Ne Roj Hi Naya Kuchh Manga Hai Khuda Se,
Ek Hum Hi Hain Jo Tere Khayal Se Aage Na Gaye.
लोगों ने रोज ही नया कुछ माँगा खुदा से,
एक हम ही हैं जो तेरे ख्याल से आगे न गये।

Raaz Khol Dete Hain Nazuk Se Ishaare Aksar,
Kitni Khamosh Mohabbat Ki Jubaan Hoti Hai.
राज़ खोल देते हैं नाजुक से इशारे अक्सर,
कितनी खामोश मोहब्बत की जुबान होती है।


Koi Rishta Jo Na Hota, To Wo Khafa Kyun Hota?
Ye BeRukhi, Uski Mohabbat Ka Pata Deti Hai.
कोई रिश्ता जो न होता, तो वो खफा क्यों होता?
ये बेरुखी, उसकी मोहब्बत का पता देती है।

Mujh Mein Lagta Hai Ke Mujh Se Zyada Hai Woh,
Khud Se Barh Kar Mujhe Rehti Hai Jarurat Uski.
मुझ में लगता है कि मुझ से ज्यादा है वो,
खुद से बढ़ कर मुझे रहती है जरुरत उसकी।

Sambhale Nahi Sambhalta Hai Dil,
Mohabbat Ki Tapish Se Na Jala,
Ishq TalabGaar Hai Tera Chala Aa,
Ab Zamane Ka Bahaana Na Bana.
संभाले नहीं संभलता है दिल,
मोहब्बत की तपिश से न जला,
इश्क तलबगार है तेरा चला आ,
अब ज़माने का बहाना न बना।

Previous Post Next Post